Man Ko Shant Kaise Rakhe

Man Ko Shant Kaise Rakhe? – जानिए मन को शांत कैसे रखें? मन को स्थिर रखने के 12 आसान उपाय

Man Ko Shant Kaise Rakhe? – हम इंसानो का मन बहुत ही चंचल होता है, हमारा मन कभी एक जगह स्थिर नहीं रहता यदि हम किसी भी एक जगह  बैठे है, चाहे किसी ऑफिस में काम कर रहे है या घर में खाना खा रहे है या बिस्तर पर सोये हुए है या फिर कही और घूम रहे है। तो ऐसे मोके पर भी अक्सर देखा जाता है की हमारा मन भटकता रहता है वो हमारे काबू में नहीं रहता है।

मन के विषय में सदियों से कहा गया है की ये बड़ा चंचल है, कई लोग कहते है की हमारा मन नहीं लगता यानि वो जो भी काम करते है उसमे उनका सही तरिके से मन नहीं लगता और ऐसे में उस काम में सफलता मिलना भी मुश्किल हो जाता है। दोस्तों बे मन से किये गए कामों के विफल होने के ज्यादा चांसेस रहते है, और उसके  विपरीत जो काम पुरे दृढ़ निश्चय और मन लगाकर किया गया उसमे सफलता भी मिलती है।

आज कल के तनाव भरे जीवन में मन और मस्तिष्क सदैव अशांत रहता है, इधर उधर की बातें मन में आती रहती हैं। ऐसे में अगर अपने मन को शांत नहीं किया गया तो इसका परिणाम आपके स्वस्थ पर भी पड़ सकता हैं। सिर दर्द, सिर चकराना, हाई ब्लड प्रेशर जैसी समस्या हो सकती हैं।

तो आइये कुछ तरीको के बारे में जानते है जिनको अपनाकर हम अपने मन और दिमाग को शांत या स्थिर रख सकते हैं :-

Man Ko Shant Kaise Rakhe? – मन को शांत कैसे रखें?

जिन लोगों का जीवन तनावपूर्ण व्यतीत होता है वो लोग अक्सर मन को शांतिपूर्ण करने के उपाय तलाश करते रहते हैं। लेकिन मन को शांत रखने के तरीकों को ढूंढने से पहले, उन सभी कारणों के बारे में जानना बेहद जरूरी हो जाता है जिनके कारण हम सभी का मन शान्त, स्थिर, या चंचल बन जाता हैं।

क्योंकि किसी भी समस्या का हल उसके कारणों को जानने के बाद ही किया जा सकता है। मन और दिमाग़ में अलग-अलग विचार, सोच उत्पन्न होना सही माना जाता है लेकिन अगर यह विचार या सोच अनावश्यक ही मन मे उतपन्न होते रहते है तो इसके पीछे भी अलग-अलग कारण हो सकते है। आइये उन कारणों को जानते है जिनसे हमारा मन शांत नही रहता हैं और हर समय मस्तिष्क में हल चल रहती हैं।

मन शांत नहीं रहने के कारण 

वैवाहिक जीवन मे विवाद

यदि वैवाहिक जीवन मे पति और पत्नी दोनों खुश और एक दूसरे से संतुष्ट रहते है तो उनका सम्पूर्ण जीनव हर्ष और उल्लास के साथ व्यतीत होता हैं। लेकिन आजकल के समय मे हर किसी के वैवाहिक जीवन मे कुछ न कुछ समस्या आ ही जाती हैं जिनके कारण दोनों के मन मे एक दूसरे के प्रति लगाव की कमी हो जाती हैं। जिससे दोनों के लिए तनाव भारी स्तिथि उत्पन्न हो जाती हैं। दिनों के मन एक दूसरे के प्रति चिड़चिड़ा हो जाते हैं।

पैसे को लेकर तनाव

पैसा पैसा पैसा! आज के समय मे हर कोई इसके पीछे भागता हैं। लेकिन यही पैसा किसी की ख़ुशी का कारण बनता है तो दूसरे की बर्बादी का भी वजह बनता हैं। छोटे से छोटे काम को करने के लिए इसकी जरूरत पड़ती हैं। इसलिए हर कोई इसके पीछे भागता रहता हैं। लेकिन अगर किसी का बुसिनेस, कारोबार से अच्छा मुनाफ़ा यानी कि पैसे नही आते है तो वह इंसान इस सोच में पागल तक हो जाता हैं। क्योंकि इसका असर उसके सीधे मन पर पड़ता है।

नशे की लत लगना

नाश हर चीज़ का होता हैं किसी को सुंदर बनने का नाश है तो किसी को मेहनत करने का नाश है तो किसी को पढ़ाई का नाश है। लेकिन यदि यह नाश ग़लत चीज़ो जैसे कि शराब, धूम्रपान, गुटखा, खैनी आदि का हो तो इसका बुरा असर पड़ता है। जो इंसान ग़लत चीज़ो का नाश करता उसका शरीर उसका लंबे समय तक साथ नही देता हैं। धूम्रपान का नशा इंसान के मन को धीरे धीरे अपने वश में करना शुरू कर देता है। जिससे उसका मन स्थिर नही रहता हैं।

दोस्तों ऐसे बहुत से कारण हो सकते है मन को अशांत होने के या फिर मन के स्थिर नही रहने के, तो आइए अब उन सभी तरीक़े के बारे में जानते है जिनसे मन को शांत रखने के लिए अपनाया जा सकता हैं।

मन को शांत रखने के 12 आसान उपाय

मन को खाली न छोड़े –

दोस्तों मेने अक्सर सुना है की खाली मन शैतान का घर होता है, खाली  मन में हमेशा अच्छे – बुरे विचार आते है, और ज्यादातर तो बुरे ही विचार आते है इसलिए अपने मन को किसी काम में लगाए उसे खाली ना रहने  दे जैसे आप खाली बैठ कर कुछ किताब पड़े, या कुछ positive सोचे  अपनी जिन्दगी का अच्छा दौर याद करे या कुछ ऐसे काम करते जाये  जिससे आपका मन लगता रहे।

Meditation करे –

Friends किसी भी व्यक्ति को उस के मन को काबू में करने का एक बेहतर और आसान तरीका यह भी है की वह रोजाना सुबह जल्दी उठकर Meditation करे। मित्रो  यह एक ऐसी क्रिया होती है, जिसमे इंसान सब कुछ भूल जाता है, हम यदि सुबह आधा घंटा इसे करते है,  तो उसके द्वारा हमारा दिनभर का काम सफल होता है, हमारा  अच्छे से काम में मन लगा रहता है, हमारा मन व्यर्थ की चिंता नहीं करता प्राचीन युग में ऋषि – मुनि भी अपने मन को केंद्रित करने के लिए ध्यान का सहारा लेते थे।

चिंताओं से दूर रहे –

किसी भी इंसान के मन के भटकने का सबसे बड़ा कारण है,उसकी चिंताए जो  इंसान हमेशा चिंतित रहते है। हमेशा नकरात्मक सोचते रहते है, ऐसे लोगो का मन  हमेशा भटकता रहता है। यदि आप अपने ऑफिस या कार्यालय पर होते हुए भी किसी दूसरी चिंता में लगे है घर परिवार के बारे में सोच रहे है। तो आपका मन स्थिर नहीं रहता। आप  सोचते है मेरी बीवी क्या कर रही होगी? मेरा बच्चा कैसा होगा?, माता पिता क्या कर रहे होंगे? शादी में जाना है पैसे कहाँ से  आएंगे और इन्ही कारणों वश इंसान चिंता में  पड़ जाता है। और उसी के फलस्वरूप उसका मन किसी काम में नहीं लगता हैं।

अपने काम से प्यार करे –

दोस्तों  मैने अक्सर कई ऐसे लोगो को देखा है,जो अपने काम से खुश नहीं रहते, लोगो ने अपनी जिन्दगी में जो करने का सोचा होता है जिस क्षेत्र में  उन्होंने अपना करियर  बनाने का सोचा होता है, किसी कारणवश उनको वो काम नहीं मिलता। जैसे आपने ही अपनी जिन्दगी में सोचा होगा की मुझे सरकारी नौकरी करना है और आप उसके  लिए कई प्रयास भी करते है। पर दुर्भाग्यवश आपको सफलता नहीं मिलती तो  ऐसे में हमे अपने काम से प्यार करना होगा यानि हम अपनी  जीवन में  जोभी  काम करते  है उसमे ही हमे अपना दिल लगाना होगा तभी हमारा मन वहा स्थिर रह सकता है, नहीं तो हमेशा हमारे मन में यही विचार आता रहेगा की मुझे जीवन में कुछ और  करना था और मैं  कहा आगया हूँ, तो इससे बचने के लिए आप जोभी काम करते है उससे ही प्यार करे।

अपनी  सफ़लता को हमेशा बनाये रखे –

जो लोग हमेशा सफलता पाते है, जीवन में हमेशा आगे बढ़ते जाते है, वो सदैव खुश भी रहते है। और ऐसे में उनका अपने काम में भी सदा मन लगा रहता है ऐसे लोगो का कभी मन भी विचलित नहीं होता वह सदैव अपने काम पर ही ध्यान देते है। और आगे बढ़ने की ही सोचते रहते है, मगर जब किसी ऐसे व्यक्ति के जीवन में ऐसा दौर आता है, की उसे असफलता का  मुँह  देखना पड़े तो वह परेशान होने लगता है और ऐसे में उनसे अपने काम में भी सही तरिके से मन नहीं लगता इसलिए सदैव अपनी  सफलता को बनाये रखे और खुश रहे।

सदैव  खुश  रहे –

मैने अक्सर ऐसे लोगो को देखा है,  जो हमेशा अपने जीवन में खश रहते है और उन लोगो में कई खुबिया होती है, वो कभी टेंशन नहीं लेते भी काम की चिंता नहीं करते सदैव अपने काम के प्रति ततपर रहते है, और अपने मन को सदैव अपने हिसाब से चलाते है। इनका मन कभी नहीं भटकता और इनको हमेशा जीवन में सफलता भी  मिलती रहती है इसलिए हमेशा खुश रहने की आदत डाले।

हमेशा सकारात्मक सोचे –

यदि हमे हमेशा अपने मन को नियंत्रण अर्थात काबू में रखना है तो हमे एक काम यह भी हमेशा करना पड़ेगा की हम सदैव सकारात्मक सोचे और यह सकारात्मक  सोच  सबके लिए हो  यानि की  हमारे साथ – साथ हमे अन्य लोगो के लिए भी अपने मन में सकारात्मक विचार रखना है। चाहे कोई हमारा दुश्मन भी क्यों न हो हमे उसके लिए  भी सदैव अच्छी सोच रखना है। और इससे सदैव हमारा मन हल्का और शांत रहेगा और हमारा मन हमारे क़ाबू में  भी  रहेगा।

मन की शांति के लिए मनोरंजन का सहारा ले –

यह उपाय मेरे लिए बहुत ही उपयोगी कारगर सिद्ध होता है, और मैं  इस ब्लॉग पर अक्सर इस चीज की बात करता हूँ, की  इंसान के लिए मनोरंजन (Entertainment) किसी दवा से कम नहीं है। मनोरंजन हमारे लिए बहुत तरिके से कारगर सिद्ध होता है, हमारा मन अशांत है, तो उस वक्त हम हमारे पसंदीदा गाने सुनते है तब हमको  ख़ुशी मिलती है। हमारे मन में कोई टेंशन या चिंता है तो ऐसे में हम कोई फिल्म देखते है तो उससे हमे उस चिंता से मुक्ति मिलती है।

मन को वश में करने के लिए किताबे पढ़े –

मित्रो कहते है किताबे इंसान की सच्ची साथी होती है, और जो ख़ुशी हमे किसी से बात करके नहीं मिलती वह हमे किताबे पढ़ने से मिलती है, और जब भी हमारा मन इधर – उधर भटकता है, और हम हमारी किसी फेवरेट किताब को पढ़ते है, तो हमारा मन भी एकाग्र होने लगता है और यह आप पर निर्भर करता है की आपको किस तरह की किताबे पढ़ना पसंद है, मोटिवेशनल किताबे, या स्टोरी वाली किताबे या और कोई सी मतलब हमारा किताब पढ़ने का मकसद सिर्फ इतना होना चाहिए की हम हमारे मन को नियंत्रित कर सके।

खाली समय मे खेलें –

दोस्तों खेलों का हमारे जीवन मे बहुत अच्छा असर पड़ता हैं।हम बचपन मे अलग अलग खेल खेलते थे लेकिन आज कल के भागदौड़ भरी जिंदगी में समय न होने के कारण हम इन सब को पीछे चोरड़ते जा रहे हैं। खेल खलने से शरीर के साथ साथ मन की सम्पूर्ण नाकारत्मक निकल जाती हैं।खेलने से हमेशा शारीरिक और मानसिक रूपबास स्वस्थ रहता हैं।खेले में भाग लेने से शरीर मे स्फूर्ति का अनुभव होता है सरीर में ब्लड फ्लो सही तरीके से होता हैं। जो मन को काबू में रखता हैं।

प्रातःकाल की सैर करें –

संसार का हर व्यक्ति कुछ न कुछ चीजों को लेकर तनाव में रहता है तथा उसके बारे में मन मे सोचता रहता हैं। लेकिन इस तनाव को दूर करने का सबसे आसान तरीका है प्रातःकाल का भृमण। शरीर स्वस्थ न रहने से मन अशांत रहता हूं, मनुष्य का स्वभाव चिड़चिड़ा हो जाता हैं। सुबह कि सैर शरीर और मन को स्वस्थ रखने में काफी सहायक होता हैं इसलिए हर उस व्यक्ति को इस चीज को करना चाहिए जिसके मन काबू में नही रहता।

पिकनिक पर जाये –

मानव में यह स्वाभाविक गुण है कि वह जीवन के हर क्षेत्र में सुख व आनन्द चाहता है। वह हर समय सुख व आनंद के क्षणों की प्रतीक्षा करता हैं। वह अपने व्यस्त जीवन मे कुछ समय ऐसे कार्यो के लिए भी निकलता है जिसमे वह अपने दुखो व चिंताओ को भूलकर आन्नद में मस्त होकर झूमता है। यदि आपका मन बहुत सोचा है या चिंता करता है तो आप अपने परिवार, दोस्तों के साथ पिकनिक पर जाकर अपनी सभी चिंताओ को नष्ट कर सकते हैं।

आज आपने क्या सीखा?

तो दोस्तों यह थे “Man Ko Shant Kaise Rakhe?” के उपाय। मै आशा करता हूँ, आपने इन विचारो को अच्छे से पढ़ा होगा और आप भी अपने जीवन में इन को  जरूर लागु करेंगे। मित्रो  मैं  यहा आपको एक और बात साफ कर देना चाहता हूँ  की ऐसा नहीं है, की अपने मन को काबू करने के सिर्फ यही उपाय है। जो  मैने आपको  इस लेख में बताये है। आप अपने मन को किसी अन्य तरिके या उपाय से भी अपने वश में कर सकते है। यहा मैने अपने अनुभव से आपको उपाय बताये है।

तो आपको मन को स्थिर रखने के 12 आसान उपाय कैसे लगे। कृपया हमे अपने Comments के माध्यम से जरूर बताये।

यह भी पढ़िए :-

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Scroll to Top